Karo shiv ke darshan Savere savere-shiv ji bhakti lyrics

करो शिव के दर्शन सवेरे सवेरे,
ये मन होगा पावन सवेरे सवेरे,

शिव नाम वाली गंगा में धो लो,
दर्पण हिरदये का सवेरे सवेरे.
करो शिव के दर्शन सवेरे सवेरे,

शिव साधना जो करे जाये शिव के धाम वो,
रखे दूर आत्मा से छ्ल मोह काम हो,
रहे उसके मन में भोले के डेरे,
जो शिव की माला दिन रात फेरे,
शिव नाम वाली गंगा में धो लो,
दर्पण हिरदये का सवेरे सवेरे.
करो शिव के दर्शन सवेरे सवेरे,

जिस से प्र्शन हो भोले भव सिंधु तार दे,
चिंता का भोज उसके सिरसे उतार दे,
फिर न डराये उसे चौरासी के गेरे,
रहे दूर जीवन से दुःख के अँधेरा,
शिव नाम वाली गंगा में धो लो,
दर्पण हिरदये का सवेरे सवेरे.
करो शिव के दर्शन सवेरे सवेरे,

Leave a Reply