कलयुग ऐ कैसी उलटी गंगा भहा रहा है इंग्लिश- हिंदी में भजन लिरिक्स

कलयुग ऐ कैसी उलटी गंगा भहा रहा है…..
माता िता को श्रवण ठोकर लगा रहा है…..
कलयुग ऐ कैसी उलटी………

त्रेता में एक ही रावण जिसने चुराई एक सीता…..
घर घर में आज रावन सीता चुरा रहा है…..
कलयुग ऐ कैसी उलटी ……….

सुनलो मेरी बहनों रहना ज़रा संबल के…..
हाथो में पापी राखी बना रहा है…..
कलयुग ऐ कैसी उलटी…….

घर में लगा है पर्दा बाज़ार में पर्दा…..
ये पतनी कमाने जाए और पति रोटी बना रहा है…..
कलयुग ऐ कैसी उलटी …….

बच्चे गरीब के तो रोटी को है तरस ते…..
हमारे सेठ जी का कुत्ता बर्फी उड़ा रहा है…..
कलयुग ऐ कैसी उलटी……

इंग्लिश- हिंदी में भजन लिरिक्स – भजन लिरिक्स

kalayug ai kaisee ulatee ganga bhaha raha hai…..
maata pita ko shravan thokar laga raha hai…..
kalayug ai kaisee ulatee………

treta mein ek hee raavan jisane churaee ek seeta…..
ghar ghar mein aaj raavan seeta chura raha hai…..
kalayug ai kaisee ulatee ……….

sunalo meree bahanon rahana zara sambal ke…..
haatho mein paapee raakhee bana raha hai…..
kalayug ai kaisee ulatee…….

ghar mein laga hai parda baazaar mein parda…..
ye patanee kamaane jae aur pati rotee bana raha hai…..
kalayug ai kaisee ulatee …….

bachche gareeb ke to rotee ko hai taras te…..
hamaare seth jee ka kutta barphee uda raha hai…..
kalayug ai kaisee ulatee……

angrezee- bhajan ke bol hindee mein | EngLish Hindi Bhajan Lyrics Collections Stories.P-page.com bhajan Lyrics – bhajan liriks

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *